Uncategorized

गोस्वामी तुलसीदास विरचित “रुद्राष्टकम्”

नमामीशमीशान निर्वाणरूपंविभुं व्यापकं ब्रह्म वेदस्वरूपं।निजं निर्गुणं निर्विकल्पं निरीहंचिदाकाशमाकाशवासं भजेऽहं।। १।। निराकारमोङ्कारमूलं तुरीयंगिरा ग्यान गोतीतमीशं गिरीशं।करालं महाकाल कालं कृपालंगुणागार संसारपारं नतोऽहं।। २।। तुषाराद्रि संकाश गौरं गभीरंमनोभूत कोटि प्रभा श्री शरीरं।स्फुरन्मौलि कल्लोलिनी चारु गंगालसद्भालबालेन्दु कंठे भुजंगा।। ३।। चलत्कुंडलं भ्रू सुनेत्रं विशालंप्रसन्नाननं नीलकंठं दयालं।मृगाधीशचर्माम्बरं मुंडमालंप्रियं शंकरं सर्वनाथं भजामि।। ४।। प्रचण्डं प्रकृष्टं प्रगल्भं परेशंअखण्डं […]

दूसरे राज्यों में फंसे लोगों के लिए चलेंगी स्पेशल ट्रेन

  कोरोना से संबंधित ताजा ख़बरों के लिए क्लिक करें  कृपया ध्यान दें अगर आप नीचे दिए गए राज्यों से UP आना चाहते हैं तो नीचे दिए राज्यों के पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन कराएं. धीरे धीरे अन्य राज्यों का लिंक भी आएगा प्रवासी रजिस्ट्रेशन। 3 मई शाम 8 बजे तक […]

बड़हल/बड़हर खाने में सावधानी

बड़हर (लकुच) एक फल है। जिसका अचार भी बनाया जाता है। अष्टांगहृदयम् के अनुसार बड़हर का फल अधम गुणों वाला होता है तथा यह वात-पित्त-कफ आदि सभी दोषों को उभारने वाला होता है। –“फलानामवरं तत्र लकुचं सर्वदोषकृत्” 👉बड़हर के फल को उड़द की दाल, गुड़, दूध, दही तथा घी के […]

चेहरे की झाईं कैसे दूर करें

झाईं होने का कारण एवं लक्षण:- चिड़चिड़ापन, शोक एवं क्रोध के कारण उभरे वात-पित्त दोषों के प्रकोप से मुखमंडल पर साँवला चकत्ता पड़ जाता है। उसी को झाईं कहते हैं। आयुर्वेद में इसे ‘व्यङ्ग’ कहते हैं। – शोकक्रोधादिकुपिताद्वातपित्तान्मुखे तनु।श्यामलं मण्डलं व्यङ्गं, वक्त्रादन्यत्र नीलिका।।परुषं परुषस्पर्शं व्यङ्गं श्यावं च मारुतात्।पित्तात्ताम्रान्तमानीलं, श्वेतान्तं कण्डुमत्कफात्।।रक्ताद्रक्तान्तमाताम्र […]

इन वेगों को रोकना हो सकता है घातक

शरीर में उत्पन्न होने वाले विभिन्न वेगों को न रोकें ऐसा आयुर्वेद बार-बार कहता है।फिर भी लोग किसी न किसी कारण से उन वेगों को रोकते हैं और गंभीर बीमारियों को उत्पन्न होने का रास्ता साफ करते हैं ।आज यह जानना आवश्यक है कि आयुर्वेद के अनुसार किन-किन शारीरिक वेगों […]

शोभांजन (सहजन) खायें: स्वस्थ बनें

  👉यदि आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर है तो सहजन को भोजन में शामिल करें।👉यदि आप कैल्शियम की कमीं का सामना कर रहे हैं तो सहजन का सेवन करें।👉यदि आप रक्ताल्पता (एनीमिया)से पीड़ित हैं तो खून की कमी दूर करने के लिए सहजन खायें।👉यदि आपको पाचन संबंधी समस्या रहती है […]

दालचीनी : स्वास्थ्य के लिए अमृत हमारी रसोईं से

  दालचीनी (Cinnamon) हमारे रसोईंघर में पाया जाने वाला मसाला है। जिसे हम गरम मसाले के रूप में प्रयोग करते हैं। छोला और उड़द की दाल में दालचीनी खड़े मसाले के रूप में प्रयोग में लायी जाती है। वस्तुतः ये एक वृक्ष की छाल है। इस प्रकार यह 100% प्राकृतिक […]

कोविड-19: डिप्रेशन से कैसे बचें-दूसरों को भी बचाएँ

अवसाद (dipression) किसी को भी हो सकता है। आवश्यक नहीं है कि व्यक्ति के जीवन में कुछ बुरा ही हो तभी उसे तनाव और अवसाद हो। सबकुछ अच्छा चल रहा हो तब भी डिप्रेशन हो सकता है। हमारे देश में अभी भी अवसाद को बीमारी नहीं समझा जाता। मानसिक बीमारियों […]

अजवाइन- गैस और उससे उत्पन्न पेटदर्द में रामबाण 

गैस बनना और उसके कारण पेटदर्द होना सामान्य बात है। प्रायः हर व्यक्ति को इसका सामना करना पड़ता है। अनेक बार गैस घंटों तक नहीं ठीक होती और पेटदर्द होता रहता है। ऐसे में डाॅक्टर गैस कम करने वाली कुछ दवायें लेने की सलाह देते हैं। ऐसी दवायें वे बहुत […]

महुआ/मधूक: फूल और कोलँइदी/कोंयदी

बाजार में सबकुछ बारहों माह सहज ही उपलब्ध होंने से लोकजीवन के परम्परागत खाद्य शनैः-शनैः विस्मृत होते जा रहे हैं। खाद्य-संस्कृति की बढ़ती एकरसता ने जिह्वा से लोक में सहज उपलब्ध खाद्यों, विभिन्न प्रकार के शाकों, फलों एवं अन्नों का स्वाद छीन लिया है। आज स्थिति यह है कि आम […]