Category: समसामयिक लेख

घूर का दीप (Lamp on the pile of Garbage)

दिवाली में दिया जलाने के स्थान (Places of lamp in Deepawali) दीपावली प्रकाश, समृद्धि और पर्यावरण-संरक्षण का पर्व है। इस दिन घर-बाहर हर स्थान पर दीप जलाया जाता है। अमावस की रात वे स्थान भी […]

आर्थिक समीक्षा 2020 – 2021

साभार PIB वर्ष 2021-22 में भारत की वास्‍तविक जीडीपी वृद्धि दर 11 प्रतिशत और सांकेतिक जीडीपी वृद्धि दर 15.4 प्रतिशत रहेगी, जो देश की आजादी के बाद सर्वाधिक है। व्‍यापक टीकाकरण अभियान, सेवा क्षेत्र में […]

हाइड्राॅक्सीक्लोरोक्विन (HCQ): कोरोना में दी जा रही दवा की सामान्य जानकारी

इस समय कोविड-19 के कारण मलेरिया में दी जाने वाली दवा हाइड्राॅक्सीक्लोरोक्विन बहुत चर्चा में है। इसका उपयोग आटोइम्यून रोगों में भी किया जाता है । अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के अनुरोध पर भारत, […]

दूसरे राज्यों में फंसे लोगों के लिए चलेंगी स्पेशल ट्रेन

  कोरोना से संबंधित ताजा ख़बरों के लिए क्लिक करें  कृपया ध्यान दें अगर आप नीचे दिए गए राज्यों से UP आना चाहते हैं तो नीचे दिए राज्यों के पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन कराएं. धीरे […]

बदलती ग्रामीण संस्कृति: मरणासन्न जलाशय

वैदिक ऋषि प्रकृति के कण-कण में देवत्व मानकर सविता, सूर्य, उषा, अग्नि, वरुण, पृथ्वी, एवं सोम आदि देवताओं की स्तुति करते थे, उनके निमित्त यज्ञ करते थे। उन्होंने पृथ्वी से आकाश तक सभी तत्वों को […]

किसान रथ मोबाइल एप

भारत सरकार के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय ने कृषि उत्पादों के सुगम परिवहन हेतु ‘किसान रथ’ नामक मोबाइल एप उपलब्ध करवाया है। इस एप के माध्यम से कोरोना संकट काल में कृषि उत्पादों के […]

सावधान रहें ‘ज़ूम’ एप से

कोविड-19 के संक्रमणकाल में सभी एकान्तवास कर रहे हैं। ऐसे में सभी शासकीय एवं सामाजिक गतिविधियाँ ठप हैं। लॉकडाउन कबतक चलेगा इस विषय में अनिश्चितता है। ऐसे में विभिन्न व्यक्ति, संस्थान एवं प्रतिष्ठान अपने कार्यों […]

संक्रमित कूड़ा-कचरा प्रबंधन

इस समय हम एक भयंकर महामारी से से जूझ रहा है। विश्व में कोविड-19 से होने वाली मृत्यु तथा संक्रमित व्यक्तियों की संख्या निरन्तर बढ़ रही है। बचाव के लिये मास्क का प्रयोग आवश्यक हो […]

रुपये के नोट हो सकते हैं वायरस के वाहक

आज जब सम्पूर्ण विश्व कोविड-19के संक्रमण से जूझ रहा है। बचाव के लिए अनेक उपाय किये जा रहे हैं। ऐसे में यह आवश्यक हो जाता है कि व्यक्ति स्वयं भी सजग रहे और ऐसे किसी […]

मलिन गंगा

प्रयाग का नाम आते ही ध्यान आता है-तीर्थराज प्रयाग, कल-कल प्रवाहित निर्मल गंगा। परन्तु इसके साथ ही तुरन्त ध्यान आता है कि गंगा की निर्मलता तो कल की बात थी आज तो गंगा के निर्मल […]