आयुर्वेद एवं घरेलू उपचार

अष्टांगहृदयम्

अष्टांगहृदयम् आयुर्वेदाचार्य वाग्भट द्वारा विरचित आयुर्वेद-ग्रंथ है। यह ग्रंथ भारतीय आयुर्वेदशास्त्र के बृहतत्रयी के अन्तर्गत परिगणित होती है। वाग्भट ने अष्टांगहृदयम् के अतिरिक्त अष्टांगसंग्रह नामक एक अन्य आयुर्वेद ग्रंथ की रचना भी की। जो विद्वानों के मत में अष्टांगहृदयम् के पूर्व की रचना है। प्राचीन परम्परा में कतिपय उदाहरण ऐसे […]

भावप्रकाश

आप वैद्यनाथ, डाबर, पतंजलि, हिमालय आदि के द्वारा तैयार की गयी आयुर्वेदिक औषधियों में प्रायः देखते होंगे लिखा होता है – भावप्रकाश के आधार पर। अर्थात् वे औषधियाँ भावप्रकाश के अनुसार तैयार की गयी होती हैं। भावप्रकाश संस्कृत में लिखित आयुर्वेद का एक अत्यन्त महत्वपूर्ण ग्रंथ है। इस ग्रंथ के […]