आयुर्वेद एवं घरेलू उपचार

स्वास्थ्य के लिए वरदान है अलसी (Flax seed)

अलसी एक तिलहन फसल है। कुछ दशक पूर्व तक अलसी का खानपान में अधिक प्रयोग होता था। परन्तु आजकल अलसी का उत्पादन और प्रयोग दोनों कम हो गया है। अधिकांश घरों में अलसी अब किसी भी रूप में प्रयुक्त नहीं होती। अलसी का परिचय अलसी रबी की फसल है। गेहूँ […]

ज्वर/बुखार का उपचार

ज्वर शरीर में वात-पित्तकफ की विषमता के कारण अधिक सोने अथवा न सोने के कारण, भोजन ठीक से न पचने, कब्ज के कारण, अत्यधिक श्रम आदि विभिन्न कारणों से होता है । आयुर्वेद में ज्वर दूर करने के अनेक उपाय बताये गये हैं। उनमें से बहुत से उपाय लोक में […]

परवल खायें – यूरिक एसिड से मुक्ति पायें

हमारे शरीर में अम्ल और क्षार के मध्य संतुलन होना स्वास्थ्य के लिए बहुत आवश्यक होता है। अम्ल और क्षार में असंतुलन ही अधिकांश रोगों का कारण है। दिनचर्या में परिवर्तन, गलत खान-पान तथा उचित व्यायाम न करने से शरीर में अम्ल और क्षार में असंतुलन हो जाता है । […]

आयुर्वेद में धान

आयुर्वेद में धान्यवर्ग के अन्तर्गत धान का वर्णन मिलता है जहाँ इसे शालि और व्रीहि दो कोटियों में रखा गया है। धान्यवर्ग में धान्य के शालिधान्य, व्रीहिधान्य, शूकधान्य, शिम्बीधान्य और क्षुद्रधान्य ये पाँच भेद किये गये हैं। शालिधान्यं व्रीहिधान्यं शूकधान्यं तृतीयकम्। शिम्बीधान्यं क्षुद्रधान्यमित्युक्तं धान्यपंचकम्॥१॥ भावप्रकाशनिघण्टु, धान्यवर्ग इसमें से लालरंग के […]

धान का सामाजिक-सांस्कृतिक पक्ष

धान से तैयार चावल, भात, लाई/मूरी, चिउड़ा/पापड़ आदि अनेक वस्तुयें दैनंदिन जीवन में भोजन-जलपान हेतु प्रयुक्त होती हैं। भारतीय संस्कृति में धान धान का भारतीय संस्कृति में बहुत महत्त्व है। धान प्राचीन काल से ही बहुत विशिष्ट अन्न के रूप में प्रसिद्ध है। अक्षत किसी भी शुभ कार्य में अक्षत […]

आम्र/आम के लाभ

आम को फलों का राजा कहा जाता है। आम स्वयं में सम्पूर्ण आहार है। आम का पत्ता, आम की मंजरी, कच्चा आम, पका आम से लेकर आम की गुठली और कच्चा आम दाल में उबालकर खाने के बाद उसकी बची गुठली तक खाने के काम आती है और औषधीय गुणों […]

सिरदर्द, बदनदर्द, थकान और हरारत में क्या करें?

जीवनशैली में हुये परिवर्तन एवं मौसम में हुये अचानक परिवर्तन, गल खानपान, नींद में बाधा, एक ही स्थिति में बैठकर देर से काम करने से सिरदर्द, शरीर में टूटने जैसा दर्द, थकान और हरारत आदि आज आम समस्या है। इन सबके साथ अनेक लोग जीवन जीते रहते हैं उन्हें इस […]

खाँसी-जुकाम से मुक्ति का उपाय

आईये जानते हैं खाँसी-जुकाम से बचने और उसे ठीक करने के उपाय। वातावरण में परिवर्तन से प्रायः खाँसी-जुकाम होना सामान्य सी बात है । अनेक व्यक्तियों को बात-बात पर जुकाम होता है और तुरन्त ध्यान न दिये जाने पर बढ़ जाता है तथा कष्टकारी होता है । जुकाम अनेक बार […]

हरीतकी /हरड़/Terminalia Chebula

आयुर्वेद में हरीतकी /हरड़ का बहुत महत्व है। इसके विषय में उक्ति प्रसिद्ध है कि माता कुपित हो सकती है पर पेट में गयी हुयी हरड़ कभी भी कुपित नहीं हो सकती। वह सदा लाभ ही पहुँचायेगी। जीभ द्वारा ग्रहण होंने वाले खाद्य पदार्थों के छः रसों (मधुर, तिक्त, कटु, […]

रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय

प्रस्तुत लेख में रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने हेतु किये जाने वाले सभी योग, आयुर्वेद एवं लोक में प्रचलित समस्त अनुभूत एवं प्रमाणिक उपायों तथा विधियों को विस्तारपूर्वक सरल शैली में बताया गया है। आशा है कि इसके पाठक लाभान्वित होंगे। रोग क्या है? शरीर की किसी भी प्रणाली में व्यवधान होना, […]