Month: May 2021

शिलोञ्छवृत्ति

रश्मिरथी के दूसरे सर्ग में रामधारी सिंह ‘दिनकर’ जी ने ‘शिलोञ्छवृत्ति’ शब्द का प्रयोग किया है। “ब्राह्मण का है धर्म त्याग, पर, क्या, बालक भी त्यागी हों?जन्म साथ, शिलोञ्छवृत्ति के क्या वे अनुरागी हों?” प्रथम […]