पीपल का फल: विभिन्न रोगों में लाभकारी

पीपल

एक बहुत ही प्रतिष्ठित, चिरपरिचित वृक्ष है। मैदान से लेकर पहाड़ तक हर जगह पाया जाता है ।

यह इतना महत्वपूर्ण है क्योंकि श्रीमद्भगवद्गीता में भगवान् कृष्ण ने कहा है- वृक्षाणां अश्वत्थोऽहं। अर्थात् वृक्षों में मैं पीपल हूँ ।

पीपल के फल के लाभ:-

1. शारीरिक कमजोरी/खून की कमीं

पीपल के सूखे बीजों के सेवन से व्यक्ति की शारीरिक कमजोरी दूर होती है ।

ऊर्जा और बला मिलता है। खून की की अर्थात् एनीमिया भी दूर होता है। हीमोग्लोबिन बढ़ता है ।

2. खून साफ करे पीपल का फल:-

पीपल के पके फलों के सेवन से खून साफ होता है।

3. रंग साफ करे और त्वचा रोगदूर करे पीपल:-

पीपल के फल के सेवन से त्वचा संबंधी रोगों से मुक्ति मिलती है तथा रंग साफ होता है।

4. बच्चों के ओष्ठ, जिह्वा, ताल आदि के रोग दूर करे पीपल का फल:-

पीपल के फल के सेवन से बच्चों के मुख का कोई भी रोग पूरी तरह ठीक हो जाता है ।

5. हकलाहट एवं तुतलाहट दूर करे पीपल का फल:-

जिन लोगों को हकलाहट या रुक रुक कर बोलने तथा तुतलाकर बोलने की समस्या है।

उनके लिये पीपल के पके फलों का सेवन सर्वश्रेष्ठ उपाय है। पीपल के फलों के सेवन से इस समस्या से मुक्ति मिलती है ।

6. श्वास रोगों में पीपल का फल:- पीपल का फल श्वास रोगों को रोकने एवं ठीक करने में सहायक है।

पीपल के पके फलों के सेवन व कच्चे फलों के काढ़ा के सेवन से साँस फूलता, खाँसी, जुकाम आदि में सहायता मिलती है ।

7. कब्ज से राहत:- पीपल के पके बीजों के सेवन से कब्ज ठीक होता है तथा मलमार्ग की अशुद्धियाँ दूर होती हैं ।

8. हृदयरोग में लाभकारी पीपल:- पीपल के पके फलों का सेवन कोलस्ट्राल नियंत्रित करता है । पाचन बढ़ाता है। इससे हृदयरोग के उपचार में लाभ मिलता है ।

9. मधुमेह का नियंत्रण करे पीपल:- पीपल के पके बीजों के सेवन से मधुमेह के रोगियों को शक्ति मिलती है।

साथ ही उनके शरीर का पाचनतंत्र ठीक से काम करने से मधुमेह के स्तर में कमीं होती है और मधुमेह नियंत्रित रहता है ।

इस प्रकार पीपल हमारे आसपास पाया जाने वाला बहुत ही उपयोगी पौधा है ।इसके फलों को महत्व नहीं दिया जाता परन्तु वे बहुत लाभदायक हैं ।

Leave a Reply