विन्ध्येश्वरीस्तोत्रम्

निशुम्भशुम्भमर्दिनीं प्रचण्डमुण्डखण्डिनीं वने रणे प्रकाशिनीं भजामि विन्ध्यवासिनीम्।त्रिशूलमुण्डधारिणीं धराविघातहारिणीं गृहे गृहे निवासिनीं भजामि विन्ध्यवासिनीम्।। १।। दरिद्रदुःखहारिणीं सदा विभूतिकारिणीं[…]

श्रीसूर्यसहस्रनामस्तोत्रम्

शतानीक उवाच नाम्नां सहस्रं सवितुः श्रोतुमिच्छामि हे द्विज।येन ते दर्शनं यातः साक्षाद् देवो दिवाकरः॥1॥ सर्वमङ्गलमाङ्गल्यं सर्वपापप्रणाशनम्।स्तोत्रमेतन्महापुण्यं सर्वोपद्रवनाशनम्॥2॥ न तदस्ति भयं किञ्चिद् यदनेन न नश्यति।ज्वराद्यैर्मुच्यते राजन् स्तोत्रेऽस्मिन् पठिते नरः॥3॥ अन्ये च रोगाः शाम्यति पठतः शृण्वतस्तथा।सम्पद्यन्ते यथा […]

शिलोञ्छवृत्ति

रश्मिरथी के दूसरे सर्ग में रामधारी सिंह ‘दिनकर’ जी ने ‘शिलोञ्छवृत्ति’ शब्द का प्रयोग किया है। “ब्राह्मण का है धर्म त्याग, पर, क्या, बालक भी त्यागी हों?जन्म साथ, शिलोञ्छवृत्ति के क्या वे अनुरागी हों?” प्रथम […]

आंग्ल-मैसूर युद्ध

प्रथम आंग्ल मैसूर युद्ध (1767-1769) द्वितीय आंग्ल मैसूर युद्ध (1780-84)वारेन हेस्टिंग्स तृतीय आंग्ल मैसूर युद्ध (1790-92)श्रीरंगपट्टनम की संधिकार्नवालिस – टीपू सुल्तान चतुर्थ आंग्ल मैसूर युद्ध (1799)लार्ड वेलेजली – टीपू सुल्तान

औरंगजेब के उत्तराधिकारी

मुअज्जम(बहादुर शाह) (1707-1712) शाह ए बेखबर जहाँदार शाह(1712-1713) फर्रुखसियर(1713-1719) रफी उद दरजात(1719) रफी उद दौला(1719) मुहम्मद शाह(1719-1748) अहमद शाह(1748-1754) आलमगीर द्वितीय(1754-1759) शाह आलम द्वितीय(1759-1806) अकबर द्वितीय(1806-1837) बहादुर शाह द्वितीय (1837-1862)

आर्थिक समीक्षा 2020 – 2021

साभार PIB वर्ष 2021-22 में भारत की वास्‍तविक जीडीपी वृद्धि दर 11 प्रतिशत और सांकेतिक जीडीपी वृद्धि दर 15.4 प्रतिशत रहेगी, जो देश की आजादी के बाद सर्वाधिक है। व्‍यापक टीकाकरण अभियान, सेवा क्षेत्र में […]

संविधान के प्रमुख अनुच्छेद

भाग 1 संघ और उसका राज्य क्षेत्र (Union and its territory) अनु. 1 संघ का नाम और उसका राज्य क्षेत्र अनु. 2 नए राज्यों का प्रवेश या स्थापना अनु. 3 नए राज्यों का निर्माण और […]

आँवला खाने की सरल विधि

आँवला अनेक रोगों की रामबाण औषधि है। आँवला खाने से हमारे शरीर में अम्ल व क्षार का अनुपात ठीक रहता है और यूरिक एसिड की समस्या नहीं होती। आँवले में प्रचुर मात्रा में आयरन और […]

व्रत का सर्वोत्तम आहार- रामदाना/राजगिरा/चौलाई का बीज/ Amaranth

चौलाई/ चौराई के साग से सभी परिचित हैं। हरी साग चौलाई के नाम से जानी जाती है और लाल पत्ते वाले शाक को लाल साग अथवा मेर्सा कहते हैं। इसके देश में विभिन्न नाम प्रचलित […]

गोस्वामी तुलसीदास विरचित “रुद्राष्टकम्”

नमामीशमीशान निर्वाणरूपंविभुं व्यापकं ब्रह्म वेदस्वरूपं।निजं निर्गुणं निर्विकल्पं निरीहंचिदाकाशमाकाशवासं भजेऽहं।। १।। निराकारमोङ्कारमूलं तुरीयंगिरा ग्यान गोतीतमीशं गिरीशं।करालं महाकाल कालं कृपालंगुणागार संसारपारं नतोऽहं।। २।। तुषाराद्रि संकाश गौरं गभीरंमनोभूत कोटि प्रभा श्री शरीरं।स्फुरन्मौलि कल्लोलिनी चारु गंगालसद्भालबालेन्दु कंठे भुजंगा।। ३।। […]